ट्रेनों की गति बढ़ाने के लिए भारत को चाहिए चीन से मदद

खबरें अभी तक। भारत में बुलेट ट्रेन चलाने की योजना को बल तो मिल गया है जिसके तहत इस वर्ष से ही बुलेट ट्रेन लाने की प्रारम्भिक तैयारियां शुरू कर दी जाएंगी लेकिन उससे पहले बाकी मौजूदा ट्रेनों की गति बढ़ाना भी अति आवश्यक है जिसकों लेकर भारतीय रेलवे को चीन की मदद चाहिए. भारत ने बेंगलुरु-चेन्नई रेल कॉरिडोर पर रेलगाड़ियों की गति बढ़ाने के लिए लिए चीन से मदद मांगी है. इसके साथ ही आगरा और झांसी रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास में भी चीन से सहयोग लेने की बात चल रही है. यह पेशकश दोनों देशों के बीच चल रहे रणनीतिक आर्थिक वार्ता (एसइडी) के दौरान की गई.

भारतीय रेलवे की इस नीति को लेकर एसइडी की बैठक में कुमार और चीन के राष्ट्रीय विकास व सुधार आयोग (एनडीआरसी) के चेयरमैन ही लीफेंग की अध्यक्षता में दोनों देशों के प्रतिनिधिमंडल के बीच बातचीत हुई. इसमें उस कॉरिडोर पर ट्रेनों की स्पीड बढ़ाकर 150 किलोमीटर प्रति घंटे तक करने का प्रस्ताव रखा गया है. अधिकारी ने कहा कि इससे पहले भारत ने आगरा और झांसी रेलवे स्टेशन के पुनर्विकास के लिए भी चीन के सामने प्रस्ताव रखा था, जिसे शनिवार की बैठक में दोहराया गया. प्रस्तावों पर विचार करने के बाद चीन अपनी प्रतिक्रिया देगा.

Add your comment

Your email address will not be published.