खाना खाने के बाद मीठा खाने की है आदत तो हो जाएं सावधान

खबरें अभी तक। भारत में लोग मीठा खाने के बहुत शौकीन होते हैं। मतलब यूं समझ लीजिए आप कि हम अगर खाने के बाद कुछ मीठा ना खाएं तो हमारी भूख नहीं मिटती। पर्व-त्योहार हो या फिर शादी-ब्याह। मिठाई हमारे खान-पान का हिस्सा जरूर होती है। लेकिन ज्यादातर लोग मिठाई खाते वक्त इससे होने वाले नुकसान की परवाह नहीं करते हैं। दरअसल हमें मीठा खाने से मतलब होता है। क्या आप जानते हैं कि ये तलब महसूस क्यों होती है? चलिए आपको बताते हैं।

भारतीय व्यंजनों में कार्बोहाइड्रेट अधिक मात्रा में रहता है। इसके चलते हमारे शरीर में शुगर की मात्रा महसूस होने लग जाती है और कुछ मीठा खाने का मन होता है।

अगर आपकी नमक ज्यादा खाने की आदत है तो भी आपकी मीठा खाने की इच्छा बढ़ जाती है।

भोजन के बाद मीठा खाने कि इच्छा हमारे खराब पाचनतंत्र की वजह से भी होती है। इसके अलावा शरीर में पानी की कमी है तो भी आपको मीठा खाने की इच्छा होती रहती है।

ये तो बात हुई कि हमारी मीठा खाने की इच्छा क्यों होती है। आइए अब जानते हैं कि इसको कैसे नियंत्रित किया जा सकता है। अगर आप रोज 10 मिनट की वॉक करें तो मीठा खाने की इच्छा में कमी आएगी।

दांतो की भलीभांति सफाई करने से भी आप मीठा खाने की लत से खुद को बचा सकते हैं।

अगर फिर भी आपको मीठा खाने की तलब लगती है तो आप फलों का सेवन कर सकते हैं। खाने से आधे घंटे पहले शहद, केले जैसी मीठी चीज खा सकते हैं।

खाने को धीरे-धीरे चबाकर खाने की आदत डालिए. खाने को चबाकर खाने से भी आप मीठा खाने की लत को कम कर सकते हैं।

अगर आप इस आदत से बचना चाहते हैं तो पानी पीने के तरीके को सुधारिए। हमेशा याद रहे कि खाना खाने और पानी पीने के बीच में हमेशा आधे घंटे का समय का अंतर जरूर रखें।

 

Add your comment

Your email address will not be published.