आंखों को ड्राई आई सिंड्रोम होने से कैसें बचाए

ख़बरें अभी तक। आंखे हमारे जीवन में एक अहम योगदान रखती है. लेकिन बढ़ते प्रदूषण और बदलती जीवनशैली के चलते हमारी आंखों को बहुत कुछ झेलना पड़ता है. आज कल आंखों की समस्या युवाओं में दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है. बता दें कि इस तरह की समस्या को ड्राई आई सिंड्रोम की समस्या कहते है. तो लगातार लोगों द्वारा मोबाइल और कंप्यूटर का अधिक इस्तेमाल करते रहना है. ऐसे में आंखों का पानी सूखने लगता है जिसकी वजह से आंखे ड्राई होने लगती है और आंखों में आंसू बनने कम हो जाते हैं और आंखों को पर्याप्त मात्रा में नमी नहीं मिलती.

ड्राई आई सिंड्रोम के लक्षणों में शामिल है….

आंखों में जलन होना

चुभन महसूस होना

खुजली होना

आंखों में लालिमा रहना

सूखापन लगना

भारीपन रहना

ड्राई आई सिंड्रोम का से बचने के लिए करें घरेलू उपाय

ग्रीन टी आज के समय में कई रोगों का रामबाण इलाज है और ये आँखों के सूखेपन को भी दूर करता है और उनमें नमी भी बनाए रखता है. ग्रीन टी आंखों के तनाव को भी कम करता है. रोजाना सुबह के समय एक कप ग्रीन टी का सेवन आपकी आंखों के लिए फायदेमंद है और ड्राई आई की समस्या को दूर करता है.

आंखों को सेंके एक कपड़े को हल्का गर्म करें और इससे आंखों को सेकें. इससे खुजली, जलन, और सूजन के आलावा आंखों का सूखापन भी दूर होने लगेगा.

ओमेगा 3 वाले फूड्स का सेवन डॉक्टर्स का कहना है ओमेगा 3 वाले आहार हमारी आंखों की ड्राईनेस को दूर करके उन्हें स्वस्थ बनाते हैं और अधिक गुणवत्ता वाले आंसुओ का उत्पादन करते हैं.  इसके लिए आप पीसी हुई अलसी, ताड़ का तेल, सोयाबीन का तेल, मछली, अखरोट, और अण्डों का सेवन करें जिससे आपको पर्याप्त मात्रा में ओमेगा 3 एसिड मिलेगा.

अधिक मात्रा में पेय पदार्थ लें जैसे पानी, जूस, दूध आदि का सेवन करें जिससे आपकी यह समस्या धीरे-धीरे दूर होने लग जाएगी.

कमरे का वातावरण नम बनाये रखें जिस कमरे में बैठे वहां का वातावरण नम बनायें रखें और अधिक तापमान ना रखें. वातावरण के नम होने से हमारे आंखों में सूखापन नहीं होता और आंखों में नमी का संचरण होता है.

आंखों को हर दो घंटे में धोते रहे और ऐसा आप इनमें छीटें मार कर करें. छीटों से आंखे धोयेंगे तो इनका व्यायाम भी होता रहेगा जिससे आपकी आंखों का सूखापन दूर होगा और इस प्रक्रिया से ये हेल्थी भी बनेंगे.

आंखों के सभी रोगों के लिए विटामिन सी बहुत फायदेमंद होता है. विटामिन सी युक्त आहार जैसे की नीम्बू, संतरा, ब्रोकोली आदि का सेवन अधिक करें जिससे सूखापन दूर होगा और नमी आएगी.

ड्राई आई से बचने के लिए सौंफ का करें इस्तेमाल एक चम्मच सौंफ को एक गिलास पानी में मिलाएं और पानी आधा होने तक मिश्रण को उबालें. मिश्रण को फ्रीज में ठंडा कर लें. 2 रुई के टुकड़े सौंफ और पानी में डुबोएं और 10 से 15 मिनट तक अपनी आंखों पर रखें.

आखों और उनकी मांसपेशियों को राहत देने के लिए रोज़ाना खीरे के स्लाइस अपनी आंखों पर 5 से 10 मिनट के लिए लगाएं. इसी तरह आलू का घिस कर इतने ही समय तक आंखों पर लगाया जा सकता है.

नमी युक्त टी बैग आँखों पर रखें (सामान्य चाय / ग्रीन टी), और 10 से 15 मिनट इंतज़ार करें. आराम मिलने पर इस क्रिया को रोज़ दोहराएं. एलो वेरा जेल को आइस क्यूब ट्रे में जमा लें. अब जमे हुए एलो वेरा जेल क्यूब से रोज़ाना आँखों की मसाज करें.

कुछ सावधानियां बरतें

अधिक देर तक टीवी ना देखें, दूर से टीवी देखें

कंप्यूटर में लगातार काम करने से बचें और हर आधे घंटे के बाद एक दो मिनट का गैप लें

Add your comment

Your email address will not be published.