राशन डिपो में पहुंचा गला-सड़ा गेहूं, लोगों ने किया विरोध

ख़बरें अभी तक। चरखी दादरी: सार्वजनिक राशन वितरण प्रणाली के तहत खाद्य आपूर्ति विभाग की तरफ से गला सड़ा हुआ गेहूं डिपो पर भेजा जा रहा है. गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों को वितरित करने के लिए भेजे जाने वाले इस गेहूं को लेने से इंनकार किया. बाद में ग्रामीणों ने डिपो होल्डर पर आरोप लगाते हुए खाद्य आपूर्ति विभाग को शिकायत की है. वहीं अधिकारियों ने गरीबों के निवाले से हो रहे खिलवाड़ को लेकर जांच करने की बात कह अपना पल्ला झाड़ दिया.

जिले के गांव घसोला स्थित राशन की दुकान पर गरीबों को गला-सड़ा गेहूं दिया जा रहा था. इसी दौरान कुछ ग्रामीण राशन डिपो पर पहुंचे और विरोध किया. ग्रामीणों ने बताया कि राशन डिपो से गला-सड़ा गेहूं देकर उनके साथ खिलवाड़ किया जा रहा है. ग्रामीणों के अनुसार करीब 100 बोरी गेहूं की डिपो पर पहुंची है. जिनमें अधिकांश बोरियों में पुराना व गला-सड़ा गेहूं है.
ग्रामीण जोगेंद्र, श्योपाल व धर्मवीर इत्यादि ने बताया कि डिपो होल्डर द्वारा पुराना व गला-सड़ा गेहूं दिया जा रहा है. विरोध किया तो गेहूं देने से मना कर देते है. ऐसे में उनके साथ खिलवाड़ किया जा रहा है. वहीं सरपंच सुरेश कुमार का कहना है कि राशन डिपो से गला-सड़ा गेहूं देने की सूचना मिलने पर वे मौके पर पहुंच गए थे और डिपो होल्डर से बात कर गेहूं का वितरण रोक दिया गया है. इस संबंध में अधिकारियों से बात करेंगे.

ग्रामीण गला-सड़ा गेहूं लेकर खाद्य आपूर्ति विभाग पहुंचे और पूरे मामले से अवगत करवाया गया. सहायक खाद्य आपूर्ति अधिकारी विनोद कुमार ने बताया कि गला-सड़ा गेहूं वितरण की शिकायत मिली है. शिकायत के आधार पर वे जांच करवाएंगे और गरीबों को अच्छा गेहूं वितरण करवाया जाएगा.

 

Add your comment

Your email address will not be published.