कोचिंग सेंटर चलाने वाले टीचर ने मासूम छात्रा को बनाया हवस का शिकार

खबरें अभी तक। बरेली के प्रेमनगर थाना क्षेत्र में 10 वीं में पढ़ने वाली 15 वर्षीय किशोरी की तबीयत खराब होने पर चौकाने वाला खुलासा हुआ है। डाक्टरों ने जांच के बाद बताया कि किशोरी 7 माह की गर्भवती है। इस मामले में पुलिस ने आरोपी कोचिंग टीचर को गिरफ्तार कर लिया। वहीं आरोपी टीचर का कहना है कि मेरे इस छात्रा से कोई संबंध नही है। पुलिस चाहे तो मेरा डीएनए परीक्षण भी करा सकती है।

प्रेमनगर थाना क्षेत्र के भूड़ इलाके के रहने वाली किशोरी 10वीं की छात्रा है। छात्रा शाहबाद के दीवान खान चौराहे पर एक कोचिंग में पढ़ने जाती थी। आरोप है कि नबंबर 2017 में टीचर दीपक अभय सक्सेना ने उसे सेंटर में ही रोक लिया और पूरा काम कराने के बाद भेजने की बात कही। इसके बाद आरोपी ने छात्रा के साथ जबरन रेप किया और घर में किसी को बताने पर मां-बाप को जान से मारने की धमकी दी। डर की वजह से छात्रा ने किसी को जानकारी नहीं दी। बीती 5 जून को जब छात्रा की हालत बिगड़ी तो परिजन उसे एक महिला डाक्टर के पास ले गए। डाक्टर के बताने पर परिजनों के हाथ-पांव फूल गए। पूछने पर छात्रा ने परिजनों को आरोपी टीचर के बारे में बताया। जिसके बाद परिजनों ने आरोपी टीचर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। उसके बाद पुलिस ने आरोपी टीचर को गिरफ्तार कर लिया। समाज में बदनामी के डर से पीड़ित परिवार मीडिया के सामने आने से बच रहा है।

कोचिंग टीचर की दरिंदगी की वजह से 15 वर्षीय छात्रा को मां बनना पड़ेगा। क्योंकि भारतीय कानून के तहत 2 माह से अधिक का गर्भ होने पर उसे नष्ट नहीं किया जा सकता। वहीं पुलिस अफसरों का कहना है कि आरोपी टीचर की गलत प्रवर्ति है ऐसी कई जानकारियां मिली है।

 

Add your comment

Your email address will not be published.