बालू के खनन और स्टॉक की जांच करने पहुंचे विभाग के अधिकारी

खबरें अभी तक। दानापुर एएसपी मनोज तिवारी और बिहटा के थानाध्यक्ष रंजीत कुमार सिंह संग खनन विभाग के अधिकारी सोन नदी के कई घाटों पर बालू के खनन और स्टॉक की जांच करने पहुंचे। इस संबंध में जिला खनन पदाधिकारी सुरेंद्र प्रसाद सिन्हा ने कहा कि नियमानुसार बालू का खनन 300 मीटर ही करना है। अभी ब्रॉडसन कम्पनी का ठेका है। इसके जरिये जो भी सब डीलर बालू का स्टॉक करगें। उसका दायर सोन नदी के किनारे से 300 मीटर के दायरे में होगा। उन्हें बरसात में बालू बेचने के लिये उक्त कम्पनी से बालू का चालान लेना होगा। इसके अलावा जो डीलर खनन विभाग की अनुमति से स्टॉक करेंगे। वह विभाग के पास निर्धारित रकम का चालान जमा करेंगे। उन्हें बालू उठाव के लिये अभी ब्रॉडसन कम्पनी द्वारा दी जा रही चालान लेकर ही स्टॉक करना है।

उनके लिए दूरी की सीमा निर्धारित नहीं है। बरसात में उन्हें बालू बेचने के लिये विभाग द्वारा चालान उपलब्ध कराया जायेगा। उन्होंने कहा कि अभी आदेश के अनुरूप कार्य हो रहा है। उन्होंने बताया कि बरसात में 30 जून से तीन महीने तक नदियों में खनन का कार्य बंद कर दिया जाता है। इसके लिए बालू ठीकेदार और विभाग द्वारा बहाल की गयी एजेंसी बालू का बड़े पैमाने पर स्टॉक कर रहे हैं। उनका स्टॉक सही है कि नहीं इस बात की जांच की जा रही है। विभाग द्वारा यह जांच अभियान चलता रहेगा। ताकि कोई गड़बड़ी नहीं किया जा सके। उन्होंने बताया कि सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बालू की लूट बंद करने के लिये नयी व्यवस्था की है। जिसमे किसी तरह की गड़बड़ी बर्दास्त नही की जाएगी। उन्होंने बताया कि स्टॉक की जांच करने आये थे। जो सही मिला है।

Add your comment

Your email address will not be published.