गर्मी में देश का भविष्य खुल्ले में पढ़ाई करने पर मजबूर, बिजली का बिल नहीं भरने के कारण कटा कनेक्शन

खबरें अभी तक। गुरुग्राम हरियाणा का सबसे हाईटैक और विकसित जिला है। लेकिन इस तस्वीर को देखकर आप खुद कहेंगे कि ये कितना शर्मनाक है हमारे सिस्टम के लिए देश का भविष्य आज पेड़ों के नीचे पढ़ने के लिए मजबूर है वो भी इतनी गर्मी के बीच जब ये सूरज की तपिश और उमस भरी हवाओ के बीच शरीर जल रहा हो।लेकिन हमारा सिस्टम इतना लाचार है कि एक महीने से ज्यादा का वक्त हो गया कि स्कूल का बिजली का बिल तक नहीं भर पाए और बिजली विभाग के अधिकारी भी इतने चुस्त नजर आए की एक पल नहीं लगाया स्कूल के मीटर को काटने के लिए अब जरा सोचिए इस सिस्टम के चलते मासूमो को कितनी तकलीफ के साथ उन किताबों से गर्मी से राहत मिल रही है जो किताबे उनकी तकदीर और तस्वीर को सवारने के लिए उनके हाथों में है।

दरअसल इस पूरे मामले को समझिए गुरुग्राम के सुशांत लोक में गवर्मेंट प्राइमरी स्कूल है जिसका बिजली बिल नहीं भरने के कारण कनेक्शन काट दिया गया जिससे 1 जुलाई से यानी पिछले 12 दिनों से बच्चे भयंकर गर्मी में तपती धूप में पढ़ने के लिए मजबूर है।शिक्षा विभाग के अधिकारियों की लापरवाई के चलते ये स्थिति बनी स्कूल स्टाफ ने इस बारे कई बार अपने उच्च अधिकारियों को अवगत करा दिया था। लेकिन इस के बाद भी कोई समाधान नही हुआ। स्कूल पर बिजली निगम का करीब 50 हजार रुपये का बिल बकाया है। अक्टूबर, 2016 से बिल की अदायगी नहीं की गई है। वहीइश प्राथमिक स्कूल में करीब 200 बच्चे पढ़ाई करते है।

हालांकि इस पूरे मामले में शिक्षा जिला अधिकारी ने चुस्ती दिखाते हुए अपने विभाग के अधिकारियों को फटकार लगाते हुए तुरंत स्कूल का बिल भरने के आदेश दिए लेकिन इस बीच सबसे बड़ी बात ये है कि इस पूरे मामले में पिछले करीब 12 दिनों से बच्चे भंयकर गर्मी के बीच में कमरों से बाहर आकर खुल्ले में पढ़ने के लिए मजबूर है। इस पूरे वाकया के बाद ये नजर आता है कि सिस्टम कब सुधरेगा। कब इस सिस्टम सिस्टम आयेगा।

 

 

Add your comment

Your email address will not be published.