अब्बास अंसारी ने प्रदेश सरकार पर लगाये गंभीर आरोप

खबरें अभी तक। मुन्ना बजरंगी हत्या काण्डं के बाद से पूरे उत्तर प्रदेश का माहौल गरमा गया है । एक तरफ मुन्ना बजरंगी की बागपत जेल मे हत्या से जहाँ पूरे प्रदेश का माहौल गरम है. तो वही वादा जेल में बन्द प्रदेश के मऊ जनपद के सदर विधानसभा के विधायक मुख्तार अन्सारी को दो दिनो से बैरंक से बाहर नही निकलने की चर्चा भी जोरो से है जिसको देखते हुए प्रदेश भर की निगाहे अब मुख्तार और उनके परिवार के लोगो पर टिकी हुई है । क्या मुख्तार अन्सारी को किसी तरह का खतरा है…जिसकी वजह से मुख्तार अन्सारी दो दिनो तक बैरक से बाहर निकले…हालाकि इस मुद्दे को लेकर विधायक के परिवार का कोई भी सदस्य इस मुद्दे पर कुछ भी बोलने को तैयार नही है |  कानून व्यवस्था को लेकर मुख्तार के बेटे अब्बास अन्सारी ने प्रदेश सरकार पर कई सवाल खडे किया कानून व्यवस्था को फेल तो अपराधियो को बेलगाम बताया , बीजेपी नेताओ पर भी अपराधियो की मदद करने का आरोप भी लगाया है ।

प्रदेश के मऊ जनपद के  सदर विधानसभा के विधायक मुख्तार अन्सारी के बेटे अब्बास अन्सारी ने प्रदेश सरकार की कानून व्यवस्था को फेल और अपराधियो को बेलगाम बताया है। अब्बास अन्सारी ने कहा कि इस सरकार में अपराधियो को खुली छुट है । पुलिस कर्मी और अधिकारियो की फुल पावर नही दिया गया है कि वह कानून व्यवस्था को ठीक से कायम रक सके क्योकि भारतीय जनता पार्टी के नेता और कुछ लोग जो बीजेपी से जुडे हुए है वही लोग अपराधियो के साथ में इन्वाल्ब है । जिसकी वजह से पुलिस प्रशासन चुप रहती है । जनपद के सासंद को भी हाथो हाथो लिया और कहा कि उनकी बातो को मीडिया के दिखाने पर भी प्रेशर में लिए रहते है । कुल मिलाकर प्रेशर की राजनीतिक कर रहे है ।  मै तो इसको अघोषित इमरजेन्सी कह रहा हूँ ।

प्रदेश सरकार हर मामले में बिफल रही है शिक्षा व्यवस्था विकास से लेकर इन्फ्रास्टकचर तक मामलो मे फेल है । भारतीय जनता पार्टी की सरकार में लोकतन्त्र की हत्या करी जा रही है ।  जो भी लोग आवाज उठाना चाहते है चाहे वह आम आदमी हो या फिर किसी पार्टी का राजनीतिक शख्स हो तो उसको सरकारी अधिकारियो के माध्मम से उसको और उसके घर वालो को प्रताडित करने का काम किया जाता है ।  कानून व्यवस्था फेल है अपराध चरम पर महिलाओ के साथ मे हिसां बढती जा रही है । कश्मीर में हालत क्या है किसी से छुपा हुआ नही है ।

Add your comment

Your email address will not be published.