1जून 2017 से लापता बच्चा अंबाला छावनी रेलवे स्टेशन पर RPF को मिला

ख़बरें अभी तक। अंबाला छावनी रेलवे स्टेशन पर 5 दिन पहले मिले बच्चे के परिवार को CWC और जिला बाल सरंक्षण विभाग ने ढूंढ निकाला है और बच्चे को उसके परिजनों को सौंप दिया है, दरअसल 6 साल का अमन दिल्ली से 1 जून 2017 से लापता था तब से अमन न जाने कहां कहां और कैसे रहा. बताया जा रहा है कि बच्चा घर से इसलिए भागा था क्यूंकि उसका पिता शराब पीकर उसकी मां से मारपीट करता था और इसका प्रभाव बच्चे पर पड़ने लगा और बच्चा घर से भाग गया. बच्चे की उम्र अब 7 साल है.

चाईल्ड वेलफेयर कमेटी के सदस्य की कुर्सी पर बैठा यह बच्चा अमन है इसकी उम्र करीब 7 साल है जब यह दिल्ली के सिरस्पूर से लापता हुआ था तब इसकी उम्र साढ़े 5 साल थी. यह बच्चा अचानक दिल्ली की गलियों से गायब हो गया डेढ़ साल पहले गुमशुदा हुआ इस बच्चे को खोजने में दिल्ली पुलिस ने दिल्ली से लेकर बिहार तक डेढ़ साल खाक छानी लेकिन यह बच्चा बीती 9 जुलाई को अंबाला छावनी रेलवे स्टेशन पर RPF को मिला जिसने बच्चे को CWC के सुपुर्द कर दिया जिसके बाद बच्चे से पूछताछ हुई तो बच्चे ने पहले बताया कि उसके मां बाप ट्रेन एक्सीडेंट में मर गये हैं

लेकिन CWC को बच्चे की कहानी झूठ लगी तो बार बार बच्चे से पूछा गया, जिसके बाद बच्चे ने दिल्ली समयपुर का नाम लिया जिससे CWC ने गूगल का सहारा लिया और वहां कि पुलिस से सम्पर्क कर बच्चे का पता लगाया. पता चला कि अमन 1 जून 2017 को घर के बाहर से खेलता हुआ गायब हो गया था. बच्चे का पिता अब बच्चे को पाकर काफी खुश है.

बच्चे को लेने उसके पिता जैसे ही दिल्ली पुलिस के साथ अंबाला आये तो हंसता हुआ बच्चा अचानक आंखों में आंसू ले आया और पिता से लिपटकर रोने लगा. पिता की आंखों में भी आंसू आ गये. बच्चे और पिता का मिलन देख जिला बाल सरंक्षण अधिकारी मेघा सिंघला भी रोने लगी. बच्चे ने CWC को बताया कि उसके पिता शराब पीकर उसकी मां को मारते थे जिससे उसके मन में डर बैठने लगा और वो घर से भाग गया. बच्चे को मिलवाने में अहम् रोल CWC के सदस्य गुरदेव सिंह का रहा जो 2 दिन तक लगातार बच्चे के बताये हर पते को गूगल पर टटोलते रहे और आख़िरकार एक जगह उन्हें कामयाबी मिली और आज बच्चा अपने मां बाप से मिलने में कामयाब रहा.

बच्चे को ढूंढने जितनी कोशिशें अंबाला CWC और जिला बाल सरंक्षण विभाग ने की उतनी कोशिशे डेढ़ साल से दिल्ली पुलिस का ASI मनोज कुमार भी कर रहा था उन्होंने बच्चे को ढूंढने के लिए हर वो कोशिश की जिससे बच्चा मिल सके वो बिहार तक गये लेकिन बच्चा आखिरकार अंबाला में मिला. अब वे काफी खुश है कि उनकी कोशिशे रंग लाई. दिल्ली से लापता हुए बहुत से बच्चे आज भी कहां गायब हो गये किसी को नहीं पता लेकिन अमन का परिजनों से मिलना किसी करिश्मे से कम नहीं है. ऐसे में सवाल यह उठता है कि डेढ़ साल तक यह बच्चा किन हालातो में रहा और इस पर आज तक किसी पुलिस या किसी संस्था की नजर कैसे नहीं गयी और यह छोटा बच्चा सरवाईव कैसे करता रहा.

Add your comment

Your email address will not be published.