हिमाचल: चिंतपूर्णी में उमड़ा श्रद्धा और आस्था का जनसैलाब

ख़बरें अभी तक। उत्तर भारत के सुप्रसिद्ध धार्मिक स्थल चिंतपूर्णी में श्रावण नवरात्र मेला आज से शुरू हो गया है, दस दिनों तक चलने वाले मेले के लिए जिला प्रशासन द्वारा श्रद्धालुओं की सुविधाओं और सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गए है. नवरात्र मेले के चलते मंदिर परिसर को रंग-बिरंगे फूलों से दुल्हन की तरह सजाया गया है. मेला शुरू होने के पहले दिन ही चिंतपूर्णी मंदिर में श्रद्धा और आस्था का खूब जनसैलाब देखने को मिला.  चिंतपूर्णी में आज से श्रावण नवरात्र मेलों का आगाज हो गया है, यह श्रावण मास के नवरात्रे दस दिनों तक चलेंगे इस दौरान चिंतपूर्णी मंदिर को दुल्हन की तरह सजाया गया है. देश विदेश से मंगवाए गए रंग-बिरंगे फूलों से मंदिर की शोभा देखते ही बन रही है. माता रानी के नवरात्रों के लिए सभी तैयारियां मंदिर प्रशासन ने लगभग पूरी कर ली हैं. नवरात्रों के पहले दिन ही माता रानी की पवित्र पिंडी के दर्शन करने के लिए देश-विदेश से श्रद्धालुओं का आना शुरू हो गया है.

नवरात्रों में भीड़ को देखते हुए प्रशासन द्वारा मां के भक्तों को पर्ची सिस्टम के जरिये ही दर्शन करवाए जा रहे है। पुलिस द्वारा मेले के दौरान सुरक्षा में 1200 के करीब सुरक्षा कर्मियों की तैनाती की गई है. सुरक्षा के मद्देनजर मंदिर न्यास द्वारा मेला क्षेत्र में सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए हैं।मेले के पहले दिन हजारों की तादाद में श्रद्धालुओं ने माता की पवित्र पिंडी के दर्शन किये. भारी बरसात के बाबजूद भी श्रद्धालुओं की आस्था देखते ही बनती है. श्रद्धालुओं की माने तो माता चिंतपूर्णी श्रद्धालुओं की चिंताएं दूर करती है और सभी मन्नतें पूरी होती है.

मंदिर के पुजारी ने बताया कि शास्त्रों में माता चिंतपूर्णी का नाम छिन्नमस्तिका धाम है लेकिन माता द्वारा भक्तों की चिंताएं दूर करने के कारण भक्तों ने माता का नाम चिंतपूर्णी रखा है. पुजारी की माने तो श्रावण नवरात्र का मेला विशेष महत्त्व रखता है क्योंकि इन नवरात्रों में सभी देवियां चिंतपूर्णी में इकट्ठी होती है और श्रद्धालुओं को आशीर्वाद देती है. मेला अधिकारी पीसी अकेला ने बताया कि नवरात्र मेला के लिए पुलिस तथा होमगार्ड के लगभग 1200 जवान चप्पे-चप्पे पर तैनात किये गए है. वहीँ मेला क्षेत्र को 10सैक्टरों में बांटा गया है और प्रत्येक सैक्टर में एक पुलिस अधिकारी और एक सैक्टर मैजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है. उन्होंने माना की पहले दिन सुरक्षा कर्मियों की कमी के चलते कुछ स्थानों पर समस्या पेश आई है लेकिन जल्द ही इन समस्यायों को सुलझा लिया जायेगा.

Add your comment

Your email address will not be published.