भगौड़े कारोबारी विजय माल्या और वित्त मंत्री अरुण जेटली की मुलाकात पर राहुल ने किया केंद्र सरकार पर वार

खबरें अभी तक। कांग्रेस ने केंद्र सरकार पर किया हमला भगोड़ा शराब कारोबारी विजय माल्या और वित्त मंत्री अरुण जेटली की मुलाकात के सिलसिले में ये पूरा बवाल खड़ा हुआ. आपको बता दें कि इसी बीच एक्टिविस्ट शहजाद पूनावाला ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और नीरव मोदी को लेकर बड़ा खुलासा किया है। पूनावाला ने आरोप लगाया कि राहुल गांधी 2013 में नीरव मोदी से एक होटल में मिले थे। उनका कहना है की 2013 में दिल्ली के एक होटल में पीएनबी घोटाले के मुख्य आरोपित नीरव मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बीच मुलाकात हुई थी। एसपीजी से इसके सबूत जुटाए जा सकते हैं। तो वहीं दूसरी ओर कांग्रेस ने पूनावाला के इन आरोपो को झूठा बताया है. बता दें कि पूनावाला का ये आरोप कांग्रेस सांसद पीएल पूनिया के खुलासे के चंद घंटे बाद आया।

Image result for शहजाद पूनावाला का बड़ा खुलासा, 2013 में राहुल गांधी से मिले थे नीरव मोदी

आपको बता दें कि पूनिया ने दावा किया है कि उन्होंने संसद में वित्त मंत्री अरण जेटली को विजय माल्या से बात करते हुए देखा था। वहीं पूनावाला ने दावा किया कि राहुल व नीरव की मुलाकात उसी वक्त की है, जब भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी व उसके भांजे नीरव मोदी को लोन दिए गए थे

पूनावाला ने ट्वीट कर कहा ‘राहुल गांधी को खुली चुनौती देता हूं कि वह इस बात का खंडन करें कि नीरव मोदी से सितंबर 2013, संभवत: 11 सितंबर की कॉकटेल पार्टी में वह शरीक नहीं हुए थे। उन्होने कहा की इंपिरीयल होटल में राहुल ने लंबा वक्त बिताया था। यह वही वक्त है, जब मेहुल चोकसी व नीरव मोदी को गलत ढंग से लोन दिए गए थे। उनका कहना है कि एसपीजी के पास इसका रिकॉर्ड हो सकता है या लाई डिटेक्टर टेस्ट से इसकी पुष्टि कराई जा सकती है। आपको बता दें कि पूनावाला ने कुरान की कसम खाकर कहा कि वह लाई डिटेक्टर टेस्ट को तैयार है कि वह सच बोल रहे हैं। पूनावाला ने यह भी कहा कि यदि वह गलत साबित हुए तो राजनीति छोड़ देंगे।

Add your comment

Your email address will not be published.