फरीदाबाद में हरियाणा का पहला पीएनजी शवदाह गृह शुरू, उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने किया उद्घाटन

खबरें अभी तक। फरीदाबाद में नीलम चौक मेट्रो स्टेशन के सामने शमशान घाट पर हरियाणा का पहला पीएनजी शवदाह गृह शुरू किया गया है। इसका उद्घाटन हरियाणा के उद्योग एवं पर्यावरण मंत्री विपुल गोयल ने किया है। प्राकृतिक गैस से दाहसंस्कार करने वाला शवदाह गृह डॉ ओपी भल्ला फाउंडेशन ने डॉ ओ पी भल्ला की पांचवी पुण्यतिथि पर भेंट किया है। इस शवदाह गृह की सबसे खास बात यह है कि देश विदेश में दूर दराज बैठे रिश्तेदार भी मोबाइल ऐप और आईपी एडरस के जरिए लाइव दाहसंस्कार को देख सकेंगे।

वातावरण में बढते प्रदूषण को कम करने के लिये मानव रचना अतर्राष्ट्रीय विश्वविद्यालय के चेयरमैन डा. प्रशांत भाल्ला ने फरीदाबाद में ही नही बल्कि पूरे हरियाणा में एक नई और अनौखी पहल शुरू की है, डॉ ओ पी भल्ला की पांचवी पुण्यतिथि पर डॉ ओपी भल्ला फाउंडेशन ने नीलम चौक मैट्रो स्टेशन के सामने शमशान घाट पर पीएनजी शवदाह ग्रह लगाया है, जिसका शुभारंभ हरियाणा के केबिनेट विपुल गोयल ने किया। सर्वप्रथम विपुल गोयल ने शमशान घाट में पौधारोपण किया और फिर हरियाण के सबसे पहले एकमात्र पीएनजी शवदाह गृह का उद्घाटन किया।

विपुल गोयल ने कहा पीएनजी गैस भी जमीन से निकलने वाली गैस है और इसमें भी वायु और लकड़ी का अंश होता है और यह हिंदू रीति रिवाजों के हिसाब से उपयुक्त है, इसलिये यह पहल हिंदु रीति रिवाजों को ध्यान में रखते हुए ही की गई है, इससे वातावरण में फैलने वाले धुएं से राहत मिलेगी और किसी कि भावनाओं को भी ठेस नहीं पहुंचेगी। साथ ही उन्होंनें कहा कि अगर कोई भी शमशान घाट या फिर सामाजिक संस्था इस प्रकार के प्राकृतिक गैस वाले शवदाह गृह बनाना चाहे तो उन्हें वह अपने फंड से आधा खर्चा देने के लिये तैयार हैं।

वहीं इस पहल को शुरू करने वाले डा. प्रशांत भल्ला ने बताया कि डॉ ओपी भल्ला कि आज पांचवी पुण्यतिथि है उनकी इच्छा थी कि श्मशान घाट को एक सात्विक रुप दिया जाए और उसी चरण में उनके परिवार ने मिलकर इस श्मशान घाट को नया रूप देने की कोशिश की है, और इसी कड़ी में यहां पर एक पीएनजी शवदाह गृह लगाया गया है, जिसकी सबसे बड़ी खासियत यह है कि यह पूर्णता हिंदू रीति रिवाजों के हिसाब से है और देश विदेश में मित्र रिश्तेदार परिजन जो किसी कारणवश नहीं आ सकते वह भी एक मोबाइल है और आई पी एड्रेस से लाइव दाह संस्कार देख सकते हैं।

 

Add your comment

Your email address will not be published.