चंडीगढ़ पुलिस का जांबाज सिपाही, जिसने HC जज के बाद एमएलए की गाड़ी की इंपाउंड

ख़बरें अभी तक। चंडीगढ में रॉन्ग पार्किंग करना फिरोजपुर की एमएलए को महंगा पड़ा. यहां गाड़ी को ट्रैफिक पुलिस ने इंपाउंड किया है. एमएलए साहिबा ने बहुत कोशिश की कि उनकी गाड़ी का चालान न हो, लेकिन जब एएसआई सरवन सिंह ने मैडम से गाड़ी के कागजात मांगे तो मैडम एक भी डॉक्यूमेंट नहीं दिखा पाई. जिसके बाद ट्रैफिक पुलिस ने उनकी गाड़ी इंपाउंड कर दी.

एएसआई सरवन सिंह ने बताया कि एमएलए सत्कार कौर की गाड़ी साल 2017 की है, जिस पर कांग्रेस का चिन्ह लगा हुआ है और ये अब तक 16 हजार किलोमीटर से भी ज्यादा चल चुकी है. इसके बावजूद एमएलए साहिबा ने गाड़ी का रजिस्ट्रेशन तक नहीं करवाया और ऐसे ही सड़क पर गाड़ी दौड़ाई जा रही है.

बता दें एएसआई सरवन कुमार वहीं पुलिस कर्मचारी है जिसने कुछ दिन पहले हाईकोर्ट के जज की गाड़ी का चालान किया था और अब एक एमएलए की गाड़ी का चालान कर दिया है. इसये ये बाद तो साफ होती है कि चंडीगढ़ में ट्रैफिक नियमों के अवहेलना करना न सिर्फ आमजन बल्कि सरकारी बाबूओं को भी महंगी पड़ सकती है.

 

 

Add your comment

Your email address will not be published.