अलीगढ़ के छात्र नोटा दबाकर सरकार को देंगे करारा जबाब

ख़बरें अभी तक। जिले में राज्य स्तरीय विश्वविद्यालय स्थापित करने की मांग अब जोर पकड़ने लगी है। बुधवार को अतरौली के वीरांगना डिग्री कॉलेज में छात्र महापंचायत हुई, जिसमें राज्य स्तरीय विश्वविद्यालय न मिलने पर लोकसभा चुनाव में नोटा का बटन दबाने की शपथ ली गई। इस दौरान हिंदूवादी नेता दीपक शर्मा आजाद ने छात्रों में जोश भरा। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय की मांग काफी समय से हो रही है, जिस पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। अखण्ड भारत हिन्दू सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष दीपक शर्मा आजाद ने कहा कि हम विश्वविद्यालय की मांग पिछले कई वर्षों से कर रहे हैं।

हमें आश्वासन के अलावा कुछ नहीं मिला जब के छात्रों ने भरोसा करके सरकार बनाने में अहम भूमिका निभाई थी लेकिन अंबेडकर जैसे भ्रष्ट विश्वविद्यालय से हमें छुटकारा नहीं मिल पाया इस विश्वविद्यालय से 996 महाविद्यालय को मान्यता दे रखी है। जबकि पीएचडी पिछले 10 वर्षों से बंद है ऐसे में महाविद्यालयों में शिक्षकों की पूर्ति कैसे होगी एएमयू की तरह हमारे हिंदू छात्रों को भी सस्ती शिक्षा प्राप्त हो वह भी इंजीनियर और शिक्षक बनता है आगरा विश्वविद्यालय एक ऐसा विश्वविद्यालय है जो छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करता है।

दीपक आजाद ने जानकारी देते हुए बताया कि छात्रों के पेपर होने के बाद दो 2 वर्ष तक मार्कशीट प्राप्त नहीं हो पाती है। विश्वविद्यालय न मिलने की स्थिति में छात्रों ने किसी भी सरकार को न चुनने का फैसला लिया है। छात्र नेता कपिल चौधरी ने कहा की विश्वविद्यालय अलीगढ़ में ना होने से हमारे हिंदू छात्र और छात्राएं बहुत परेशान है। कभी किसी की स्कॉलरशिप तो कभी किसी की अंकतालिका तो कभी किसी के पेपर समय से नहीं हो पाते ऐसे में महापंचायत में धर्मेंद्र बजरंगी व सभी छात्र-छात्राओं ने फैसला लिया है कि छात्र विश्वविद्यालय नहीं बनने की स्थिति में चुनाव में नोटा का प्रयोग करेंगे।

Add your comment

Your email address will not be published.