चंडीगढ़: यूटी प्रशासन ने इस बार पद्म अवॉर्ड के लिए भेजे चार लोगों के नाम

 ख़बरें अभी तक:चंडीगढ़ यूटी प्रशासन ने इस बार पद्मश्री अवॉर्ड के लिए शहर से तीन लोगों के नाम केंद्रीय गृह मंत्रालय को भेजे हैं, और एक नाम पद्मविभूषण के लिए भेजा है। भारत सरकार की ओर से गठित की गई कमेटी अब इन नामों पर विचार करेगी।प्रशासन ने इस साल जिन चार लोगों के नाम की सिफारिश अवॉर्ड के लिए की है, उनमें पीजीआई के तीन डॉक्टरों के नाम भी शामिल हैं।वर्ष 2017 में चंडीगढ़ के किडनी रोग विशेषज्ञ डॉ.मुकुट मिंज और पंजाब यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर हरकिशन सिंह को पद्म पुरस्कार मिले थे। पिछले साल प्रशासन ने छह नाम भेजे थे।

हालांकि चंडीगढ़ से किसी को भी पिछले साल पद्म अवॉर्ड नहीं मिला था। इस साल चंडीगढ़ प्रशासन ने पीजीआई के डायरेक्टर डॉ. जगत राम सहित कुल 4 नाम पद्म अवॉर्ड के लिए केंद्र सरकार को भेजे हैं। डॉ. जगत राम की एमबीबीएस की डिग्री मेडिकल कॉलेज शिमला हिमाचल प्रदेश से पूरी हुई थी। वो नेत्र रोग विशषेज्ञ हैं।

पीजीआई के एंडोक्रॉलॉजी डिपार्टमेंट के हेड डॉ. अनिल भंसाली का नाम भी पदमश्री के लिए भेजा गया है। डायबटीज टाइप-2 के लिए भंसाली ने सही सॉल्यूशन इजाद किया, जो कि सैल ट्रांसप्लंटेशन टैक्निक के जरिए किया जाता है। पीजीआई के मेडिकल सुपरिटेंडेंट और हेड हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन प्रो. एके गुप्ता का नाम भी एमएचए को भेजा गया है। प्रोफेसर एके गुप्ता और उनकी टीम को हॉस्पिटल में इंफॉरमेशन टेक्नोलाजी को बेहतरीन करने और आई डोनेशन प्रमोशन करने के  लिए पहले भी कई अवॉर्ड मिल चूके है। इन तीनों के नाम पद्मश्री के लिए भेजे गए है जबकि एक नाम डॉ. जगदीश चोपड़ा का पद्मविभूषण के लिए भेजा गया है।

Add your comment

Your email address will not be published.