झज्जर में देश के सबसे बड़े कैंसर अस्पताल में प्रोटोन थेरेपी होगी फ्री

ख़बरें अभी तक। झज्जर में देश के सबसे बड़े कैंसर इंस्टीट्यूट में 14 जनवरी से ओपीडी शुरु होगी साथ ही कल से कैंसर मरीजों की भर्ती भी शुरु होगी। इस अस्पताल में कैंसर रोगियों के लिए 250 बेड का वार्ड तैयार किया गया है। वहीं ट्रीटमेंट मशीने ,ऑपरेशन थियेटर व कीमोथेरेपी के पूरे इंतजाम किए जा रहे है। यहां पर लाखों रुपए में होने वाली प्रोटोन थेरेपी गरीबों के लिए मुफ्त होगी। दो माह में मशीन के ऑर्डर मंत्रालय द्वारा जारी कर दिए जाएंगे ।

जाने प्रोटोन थेरेपी किन रोगों में कैसे काम करती है- प्रोटोन बीम से कैंसर ट्यूमर को सटीक वार कर नष्ट कर दिया जाता है। इससे शरीर के अन्य हिस्सों पर  रेडिएशन का प्रभाव नहीं पड़ता। प्रोटोन थेरेपी पारिर्किंसंस रोग, मिर्गी, धब्बेदार अध पतन,धमनीविस्फार संबंधी विकृतियों जैसी बिमारियों में कारगार है। अभी ये थेरेपी सिर्फ मंबई के टाटा मेमोरियल व चेन्नई के ओपोलो अस्पताल में ही इसकी सुविधा उपलब्ध है। एनसीआई हेड प्रो. जीके रथ का कहना है कि यहां देश – विदेश के मरीजों का इलाज होगा। साथ ही हमारे डॉक्टर अपने ही देश में रिसर्च कर सकेंगे। एनसीआई यूके, यूएसए और फ्रांस के संस्थानों से चिकित्सीय सेवाओं में सहयोग लेगा।

 

Add your comment

Your email address will not be published.